आपकी कुण्डली के अष्टम भाव में अगर कार्य भाव स्वामी स्थित है तो आप स्थायी तौर पर कार्य करने में आपको परेशानी आ सकती है.मार्केटिंग के काम में आपको अच्छी सफलता मिलेगी.आप व्यापार करते हैं तो इसमें समय समय पर आप बदलाव कर सकते हैं.अगर दशमेश बृहस्पति है और ...

गुरू को सत्वगुणी ग्रह माना जाता है. यह ज्ञान व भाग्य का प्राकृति स्वामी ग्रह माना जाता है. ज्योतिषशास्त्र में इसे धन का कारक भी कहा गया है. आजीविका का सम्बन्ध धन व आय से होता है. इस लिहाज से गुरू का सम्बन्ध आजीविका स्थान यानी दसवें घर से होने पर शुभ ...

व्यवसाय का सम्बन्ध जीविका से है. जीविका के लिए व्यक्ति व्यापार करता है या नौकरी. इसका स्तर छोटा भी हो सकता है और बड़ा भी. इसमें पदोन्नति भी होती है और स्थानांतरण भी. प्रश्न कुण्डली रोजगार और व्यवसाय से सम्बन्धित सभी पहलूओं का उत्तर देने में सक्षम है....

Vedic Astrology

मंगल केतु में समनता एवं विभेद (Similarities and differences between Mars and Ketu)

मंगल को नवग्रहों में तीसरा स्थान प्राप्त है और केतु को नवम स्थान फिर भी ज्योतिष की पुस्तकों में कई स्थान पर लिखा मिलता है कि मंगल एवं केतु समान फल देने वाले ग्रह हैं (It ... Read More...

कुम्भ राशि में गुरू के गोचर का वृष राशि पर प्रभाव (Impact of Jupiter’s Transit Into Aquarius on Taurus Sign)

वृष राशि का स्थान राशिचक्र में दूसरा है, जबकि कुम्भ राशि से इसका स्थान दसवां है. 20 दिसम्बर को गुरू राशि परिवर्तन करके कुम्भ राशि में प्रवेश कर रहा है. इस राशि में इसका ग... Read More...

कुम्भ राशि में गुरू के गोचर का मेष राशि पर प्रभाव (Impact of Jupiter’s Transit Into Aquarius on Aries Sign)

गुरू को नवग्रहों में शुभ ग्रह के रूप में जाना जाता है. यह धर्म और अध्यात्म का प्रतिनिधित्व करता है. विवाह, संतान की प्राप्ति, शिक्षा एवं ज्ञान के साथ ही साथ शुभता एवं खुश... Read More...

कुण्डली में ग्रहण योग प्रभाव और उपचार (Grahan Yog in the Kundali)

हमारा जीवन चक्र ग्रहों की गति और चाल पर निर्भर करता है. ज्योतिष शास्त्र इन्हीं ग्रहों के माध्य से जीवन की स्थितियों का आंकलन करता है और भविष्य फल बतात... Read More...

राशि का मित्रता पर प्रभाव (Moonsign and friendship)

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार जिस लग्न में व्यक्ति का जन्म होता है.उससे विभिन्न राशियों के अनुसार साझेदारी का फल मिलता है.अगर आप किसी से साझेदारी या दोस्ती... Read More...

आपकी कुण्डली में धन योग (Laxmi Yoga Or Dhan Yoga In Your Horoscope)

देवी लक्ष्मी की कृपा हम सभी प्राप्त करना चाहते हैं क्योंकि देवी लक्ष्मी ही सुख वैभव को देने वाली है.ज्योतिषशास्त्र की दृष्टि में धन वैभव और सुख के लिए कुण्डली में मौजूद धनदायक योग (Lakshmi Yoga) काफी ...

Read More

समय और ग्रहों के अनुकूल रत्न धारण (Wearing Lucky Gemstone According To Planets And Dasha)

रत्न में करिश्माई शक्तियां होती है.रत्न अगर सही समय में और ग्रहों की सही स्थिति को देखकर धारण किये जाएं तो इनका सकारात्मक प्रभाव प्राप्त होता है अन्यथा रत्न विपरीत प्रभाव भी देते हैं.ग्रहों के समान रत...

Read More

जैमिनी ज्योतिष (Jaimini Astrology)

जैमिनी ज्योतिष (Jaimini Jyotish) में आत्मकारक ग्रह नवमांश कुण्डली में जिस राशि में होता है वह कारकांश राशि (Karkamsha Rashi) कहलाती है. कारकांश राशि को लग्न माना जाता है और अन्य ग्रहों की स्थिति जन्म कुण्डली की तरह होने पर जो कुण्डली तैयार ...

Read More

प्रतियोगिता या विवाद के प्रश्न (Prashna About Competition)

प्रतियोगिता एवं वाद के परिणाम के प्रति सभी की उत्सुकता होती है. प्रश्न ज्योतिष (Horary Astrology) के अनुसार प्रतियोगिता एवं वाद के संबन्ध में अंदाज़ा स्वयं लगा सकते हैं.

Read More

जब होता है कालसर्प योग पीड़ादायक (When Does Kalsarpa Dosha Cause Pain?)

यह जरूरी नहीं कि जिनकी कुण्डली में कालसर्प योग (Kalsarp Yoga) हैं उन्हें इस योग का अशुभ फल जन्मकाल से ही मिलने लगे. अगर आपकी कुण्डली में शुभ योग हैं तो आपको उनका भी फल मिलता रहेगा परंतु कालसर्प योग (K...

Read More

मांगलिक दोष एवं उपचार

क्या आप मांगलिक हैं?
  • मांगलिक दोष गृहस्थिति अनुसार गंभीर या मामूली प्रभाव डालते हैं. इस मांगलिक दोष एवं उपचार रिपोर्ट से आप जान सकते हैं की मंगल आप पर कैसा प्रभाव डालेगा?
  • मांगलिक दोष के प्रभाव को कम करने के लिए आपके ग्रहानुसार क्या क्या उपचार हो सकते हैं? यह रिपोर्ट में आपके लिए उपचार भी सुझाये गए हैं.

Lal Kitab

Lal Kitab Remedies for Sleeping House – लाल किताब सोया घर

लाल किताब के अनुसार जिस घर में कोई ग्रह न हो तथा जिस घर पर किसी ग्रह की नज़र नहीं पड़ती हो उसे सोया हुआ घर माना जाता है. लाल किताब...

Read More

लाल किताब से बनायें मंगल को शुभ (Lal Kitab Remedies For Mars)

मंगल को लाल किताब (Lal kitab) में शेर कहा गया है। यह अगर नेक हो तो वीरता, साहस और पराक्रम देता है। अगर मंदा हो तो भाई बंधुओं से पर...

Read More

लाल किताब और गृहस्थ सुख (Lal kitab and the Married life)

गृहस्थ जीवन के सुख के विषय में लाल किताब की अपनी मान्यताएं हैं. ज्योतिष की इस विधा में वैवाहिक जीवन के सुख के विषय में कई योगों का...

Read More

Marriage Astrology

प्रश्न कुण्डली से पूछिये प्रेम में सफलता मिलेगीं या नहीं (Will I have Love Marriage)

प्यार की मंजिल प्रेमी को पाना होता है. हर प्रेमी की चाहत होती है कि वह जिससे प्यार करता है वही उसका जीवनसाथी बने. लेकिन बहुत कम लो...

Read More

मांगलिक दोष (Manglik Dosha – Kuja Dosha)

मांगलिक दोष (Manglik Dosha) जिसे कुजा दोष (Kuja Dosha) भी कहते हैं विवाह के विषय में बहुत ही गंभीर और अमंगलकारी मानी जाती है. मांग...

Read More

विवाह लग्न और वैवाहिक जीवन (Marriage Ascendant & Married Life)

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार कुण्डली में मौजूद ग्रह वैवाहिक जीवन को सुखद और कलहपूर्ण बनाते हैं.लेकिन यह तथ्य भी प्रमाणिक है कि अगर वैव...

Read More

Muhurta

Bhadrapada Sankranti – भाद्रपद संक्रान्ति 2018

17 अगस्त 2018, मंगलवार, प्रात: 05:43, सूर्य मघा नक्षत्र, सिंह राशि में प्रवेश करेगा. इस संक्रान्ति में किये जाने वाले कार्यो का शुभ समय दोपहर 11:58 तक रहेगा. भाद्रपद संक्रान्ति को ध्वांक्षी संक्रान्ति के नाम से भी जाना जाता है. भा... Read More...

चौघडिया – Chogadhia The instant Muhurta

चौघडिया मूहुर्त क्या है (What is chaughadia Muhurat) तेजी से भागते, बदलते समय ने ज्योतिष के मूहुर्त को भी बदल के रख दिया है. आज झटपट मूहुर्त का चलन है. मूहुर्तों की इसी श्रेणी में चौघडिया मूहुर्त (Chaughadia muhurtas) का नाम आता ... Read More...

मुहूर्त में लग्न और कार्य (Lagna According Work in Muhurta)

मुहूर्त (muhurat) वैदिक ज्योतिष (Vedic astrology) का महत्वपूर्ण अंग है। यह समय विशेष में कार्य की शुभता और अशुभता की जानकारी देता है। अगर आप अपने कार्य को सफलता प्राप्त करना चाहते हैं तो मुहूर्त में लग्न का विचार करके कार्य शुरू क... Read More...