गुरु को जीवन साथी, संतान, धन, धर्म, आध्यात्म, विधा, विवेक, योग्यता, बडा भाई, सोना का कारक कहा गया है. गुरु की वक्रता इन सभी कारकतत्वों संबन्धी दिक्कतें दे सकती है. ऎसे में विवाह व शुभ कार्य संपन्न होने में कुछ बाधाएं आ सकती है. संतान के जन्...


Read More »