आपकी कुण्डली के प्रथम भाव में द्वादश भाव का स्वामी स्थित है.इस स्थिति में आप दिखने में आकर्षक होते हैं.आपकी वाणी में मधुरता रहती है परंतु क्रोध भी जल्दी आता है जिसके कारण आप किसी से भी उलझ पडते हैं.आपका अधिकांश समय पैतृक स्थान से दूर व्यतीत...


Read More »